Friday 2 January 2009

मिलिए विनोद जी से

श्री शिश्वेश्वर नारायण विनोद उर्फ एसएन विनोद पांच दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। वे मन से तन तक पत्रकार है। साफ-साफ कहें, तो पत्रकारिता के स्कूल हैं। इन्हीं विनोदजी का इंटरव्यू भड़ास४मीडिया के श्री यशवंत सिंह ने लिया है। इसमें विनोद जी ने अपने जीवन के कई अनछुए पहलू को उजागर किया है। कुछ ऐसी बातें, जिसे कदाचित उनके निकट के लोग भी नहीं जानते हैं। पूरे पत्रकारीय जगत और पत्रकारिता के विद्यार्थियों के लिए यह इंटरव्यू पठनीय है। विस्तृत इंटरव्यू पढ़ने के लिए यह क्लिक करें-

1 comment:

Manoj Pamar said...

ब्लॉग जगत में पहली पोस्ट पर आपको बधाई। सही मायने में पहली पोस्ट सुख पहलौठी संतान जैसा होता है। हालांकि आपने एक जनवरी को मानववाणी के श्रीगणेश का ऐलान किया था लेकिन आपकी छपरा मेल ४८ घंटे विलंब बाद ब्लॉग स्टेशन पर पहुंची है। उम्मीद है कि झूमरी तलैया से निकली आपकी यह छपरा मेल शताब्दी एक्सप्रेस की तर्ज पर ब्लॉग की पटरियों पर दौड़ेगी। आपको शुभकामनाएं